मृतक विशाल की फाइल फोटो।

  • परिवार के सदस्यों ने कल आरोप लगाया कि थाना प्रभारी ने मामले को हल्के में लिया
  • अगर उसकी जांच सही दिशा में होती, तो उसका प्रेमी बच सकता था

फिरौती न मिलने पर पैगंबरपुर निवासी मंजय कुमार के नौ वर्षीय बेटे विशाल की हत्या का मामला सोमवार को प्रकाश में आया। पूरे प्रकरण में सारनाथ थाना प्रभारी इंद्रभूषण यादव और दरोगा संजय कुमार की लापरवाही के बाद मंगलवार को एसएसपी अमित पाठक ने कार्रवाई स्थगित कर दी। एक गंभीर घटना में अपहरण के बाद पत्र प्राप्त करने के बाद भी दोनों ने अनावरण करने का कोई प्रयास नहीं किया।

दोनों ने घटना के बारे में अधिकारियों से बात भी नहीं की

29 जनवरी को, मृतक विशाल के परिवार को लापता होने की सूचना दी गई थी। अपहरणकर्ता ने मनोज के घर पर फिरौती के लिए धमकी भरा पत्र भी फेंका। सारनाथ स्टेशन के परिवार प्रभारी को भी इस बारे में सूचित किया गया था। कल घर से कुछ दूरी पर खेत में एक मासूम विशाल का शव मिला था।

एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि कई टीमें घटना को खोलने में लगी हुई हैं। एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया है। जिसके कारण पूछताछ चल रही है। सीसीटीवी फुटेज की भी मदद ली जा रही है।

 

[ad_2]