अगस्त 2018 में, घोषणा के लगभग ढाई साल बाद, करण जौहर ने अपनी मल्टी स्टारर फिल्म तख्त को बंद करने का फैसला किया है। इसके पीछे कई कारण हैं। इसका सबसे बड़ा कारण देश का ताजा राजनीतिक माहौल माना जाता है। फिल्म मुगल शासक औरंगजेब और उसके भाई दारा शिकोह के बीच सिंहासन के लिए लड़ाई पर आधारित है। लेकिन निर्माताओं को लगा कि ताजा माहौल के बीच मुगल इतिहास पर फिल्म बनाना उन्हें मुश्किल में डाल सकता है। इसके अलावा, ऐतिहासिक फ़िल्मों का बड़े पैमाने पर विरोध होता है, जिसकी वजह से फ़िल्म को रिलीज़ करने में समस्या होती है।

दूसरा कारण: फिल्म का बड़ा बजट

करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन के बैनर तले बनने वाली इस फिल्म का बजट लगभग 300 करोड़ रुपये रखा गया था। लेकिन कोरोनवायरस और उसके चल रहे लॉकडाउन से फिल्म व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इसे देखते हुए मेकर्स इतनी महंगी फिल्म बनाने का जोखिम नहीं उठाना चाहते हैं। क्योंकि उनकी एक फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ पहले से ही अटकी हुई है, जिसका बजट लगभग 350 करोड़ है। रणबीर कपूर, आलिया भट्ट और अमिताभ बच्चन स्टारर फिल्म कब रिलीज होगी, यह अभी तय नहीं है।

तीसरा कारण: कोई भी स्टूडियो फिल्म लेने को तैयार नहीं है

खबरों के मुताबिक करण जौहर की लाख कोशिशों के बावजूद कोई भी स्टूडियो इस फिल्म को लेने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। क्योंकि उन्हें फिल्म के विवाद में आने की भी उम्मीद है।

चौथा कारण: कोरोना के कारण अनिश्चितता का माहौल

कोरोना वायरस के कारण सिनेमाघरों में अनिश्चितता का माहौल है। कई राज्यों में, थिएटर अभी भी पूरी क्षमता के साथ नहीं खुल रहे हैं। इसके अलावा, दर्शक सिनेमाघरों में जाने में भी असमर्थ हैं। भविष्य में क्या होगा यह किसी ने नहीं देखा। यही वजह है कि निर्माताओं ने ‘तख्त’ को रोक दिया है।

फिल्म कुछ सालों के बाद शुरू हो सकती है

‘तख्त’ को 2016 में रिलीज़ हुई ‘ऐ दिल है मुश्किल’ के बाद निर्देशक के रूप में करण जौहर की वापसी के रूप में देखा गया था। इसमें रणवीर सिंह और विक्की काजल को दारा शिकोह और औरंगज़ेब के रूप में दिखाया गया था। फिल्म में अनिल कपूर शाहजहाँ, करीना कपूर जहाँआरा बेगम और आलिया भट्ट, दिलरास बानू हैं। इतना ही नहीं, भूमि पेडनेकर और जान्हवी कपूर ने भी इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। खबरों के मुताबिक, करण जौहर कुछ साल बाद फिर से इस फिल्म पर काम शुरू कर सकते हैं।

 

[ad_2]