भाग्य महाराज की दूसरी पत्नी आयुषी जिला अदालत पहुंची थी, लेकिन वह बयान बीच में ही छोड़ कर ग्वालियर चली गई।

बयान दर्ज कराने के लिए सोमवार को डॉ। आयुषी कोर्ट पहुंची। उसी समय, उन्हें अपने परिवार से एक फोन आया। आयुष को सूचित किया कि ग्वालियर में रहने वाले दादा की मृत्यु हो गई है। आयुषी ने इस मामले को अदालत के समक्ष रखा, जिसके बाद अदालत ने उन्हें अपना बयान छोड़कर ग्वालियर जाने की अनुमति दी। आरुषि को सोमवार से जिरह से गुजरना था, लेकिन वह नहीं जा सकी।

मामले में 5 फरवरी को कैलाश पाटिल और दिनेश कुमार के बयान दर्ज किए जाने हैं। वहीं, राजेश डावर एसआई और अमोल चौहान के बयान 9 फरवरी को दर्ज किए जाएंगे। इसी तरह, 10 फरवरी को प्रवीण दिनकर राव और शेखर मदनलाल शर्मा के बयान दर्ज किए जाएंगे।

भय्यू महाराज सुसाइड केस: आयुष ने कहा- भय्यू महाराज ने मुझे प्रपोज किया, कहा- मेरी आस्तीन में बहुत सारे सांप हैं, मुझे जल्द ही शादी करनी है।

[ad_2]