[ad_1]

टीका की पहली खुराक कोरोना के खिलाफ टीकाकरण कार्यक्रम के 18 वें दिन मंगलवार (2 फरवरी) को 1 लाख 70 हजार 585 स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों को दी गई। इस अवधि के दौरान, 106 दुष्प्रभाव बताए गए। इस तरह, देश में अब तक 41 लाख 20 हजार 741 स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जा चुका है। ये आंकड़े मंगलवार शाम 7 बजे तक के हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में अब तक टीकाकरण के 76,516 सत्र आयोजित किए गए हैं। इसी समय, गुजरात और पश्चिम बंगाल में भी फ्रंट लाइन कार्यकर्ताओं का टीकाकरण शुरू हो गया है। दोनों राज्यों में पहले दिन कुल 19,902 फ्रंट लाइन वर्करों का टीकाकरण किया गया।

अब दिल्ली में भी 6 दिन का टीकाकरण
दिल्ली में अब 6 दिन का टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। पहले यहां 4 दिनों से टीकाकरण किया जा रहा था। दिल्ली के अलावा, आंध्र प्रदेश में 6 दिन और मिजोरम में 5 दिनों के लिए टीका लगाया जा रहा है। वहीं, सप्ताह में दो दिन गोवा, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में टीकाकरण हो रहा है।

इन राज्यों में एक लाख से अधिक टीकाकरण

राज्य टीका लगाया हुआ
आंध्र प्रदेश 1,87,252 है
तेलंगाना 1,68,771 है
हरियाणा 1,27,893 है
तमिलनाडु 1,20,745 है

इन राज्यों में 4 दिन का टीकाकरण
अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दादर और नगर हवेली, दमन और दीव, गुजरात, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, पुदुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम , तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में सप्ताह में 4 दिन टीका लगाया जाता है।

इन राज्यों में 3 दिन टीकाकरण
अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, नागालैंड और ओडिशा में सप्ताह में केवल तीन दिन टीकाकरण अभियान के लिए रखा जाता है।

16 जनवरी से टीकाकरण शुरू हुआ
दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत में 16 जनवरी से शुरू हुआ। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया था। पहले दिन, 2 लाख 7 हजार 229 लोगों को टीका लगाया गया था। यह टीकाकरण के पहले दिन किसी भी देश में टीकाकरण की सबसे बड़ी संख्या है। इस मामले में भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस को भी पीछे छोड़ दिया।

अब तक 11.04 करोड़ बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाई जा चुकी है
देश में 31 जनवरी से शुरू हुए पोलियो टीकाकरण कार्यक्रम के तहत 5 वर्ष से कम आयु के 11.04 करोड़ बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाई गई है। राष्ट्रीय पल्स पोलिया टीकाकरण दिवस की शुरुआत राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 30 जनवरी को राष्ट्रपति भवन में की थी।

 

[ad_2]