छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में बाइक को लेकर दो अलग-अलग जगहों पर हंगामा हुआ। इसी के चलते कुछ लोगों ने मिलकर युवक की पिटाई कर दी।

  • बिल्हा क्षेत्र के ताला मंदिर की घटना, मुंगेली का युवक अपने साथियों के साथ आया था
  • पुलिस ने 4 दिनों की जांच के बाद एफआईआर दर्ज की, आरोपियों की पहचान की गई, तलाश जारी है

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में बाइक को लेकर दो अलग-अलग इलाकों में हंगामा हुआ। बिल्हा इलाके में अपने साथियों के साथ मुंगेली से आया युवक बाइक पर मंदिर गया था। जब वे वहां से लौटे, तो 7-8 युवाओं ने बाइक पार्क करने और लात-घूंसे, बेल्ट और डंडों से पिटाई करने को लेकर विवाद शुरू कर दिया। पुलिस ने जांच की और 4 दिनों के बाद एफआईआर दर्ज की। वहीं, तोरवा क्षेत्र में एक युवक को बाइक से ले जाने के बाद उसकी पिटाई कर दी गई।

जानकारी के अनुसार, मुंगेली के सरगांव के रहने वाले राहुल सहारा 28 जनवरी को अपने दोस्तों रॉबिन सहारा, प्रदीप भोंसले, रोशन कुमार के साथ बिल्हा में ताला मंदिर आए थे। उन्होंने अपनी बाइक मंदिर के बाहर खड़ी की और अंदर चले गए। शाम करीब 6 बजे लौटने के बाद, बाहर खड़े 7-8 लड़कों ने उनके साथ बाइक खड़ी करने के बारे में बहस करना शुरू कर दिया। आरोपियों ने गाली-गलौज की और उसे जान से मारने की धमकी दी और लकड़ी, बेल्ट और घूंसे से पीटा।

पुलिस पूछताछ में आरोपियों की पहचान, लेकिन पकड़ से दूर
इसके बाद युवकों ने पुलिस को सूचना दी। जब पुलिस ने मेडिकल कराने के बाद जांच शुरू की, तो घटना की पुष्टि के साथ आरोपी की पहचान भी की गई। इसके बाद पुलिस ने पंसारी निवासी गौरी ध्रुव, गब्बर जायसवाल, मोहन यादव, आकाश ध्रुव और 5-6 अन्य युवकों के खिलाफ बलवा, मारपीट सहित अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। हालांकि, सभी आरोपी अभी भी गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस फिलहाल उनकी तलाश कर रही है।

दोस्त को छोड़कर बाइक से गया, जमकर पीटा
तोरवा क्षेत्र के देवरीखुर्द निवासी प्रतीक साहू ने वहां रहने वाले संदीप को बेमेतरा चलने के लिए कहा। दोनों बाइक पर जाने के लिए निकले और रास्ते में शराब की दुकान में शराब पीने लगे। वहां संदीप ने बाइक चलाने की जिद की और प्रतीक के मना करने पर वह उसे छोड़ कर बाइक ले गया। प्रतीक अपने पड़ोसी रविकांत की मदद से घर पहुंचा। आरोप है कि लखन सेन, रामू गोंड और अन्य साथियों ने मिलकर प्रतीक को पीटा।

 

[ad_2]